मोनू कनौजिया - समस्त देशवासियों को श्री कृष्ण जन्माष्टमी की उल्लासपूर्ण मंगलकामनाएं.

भारतीय समाज में कल्याण और मंगल की धारा का प्रवाह करते है हमारे भारतीय त्यौहार और इन्हीं सुंदर त्यौहारों की श्रृंखला में बेहद अहम है श्री कृष्ण जन्माष्टमी. इस दिन भगवान् श्री हरि ने बाल स्वरुप में श्री कृष्णावतार लेकर धरती पर अवतार लिया था. जन्माष्टमी न केवल भारत देश में अपितु विदेशों में भी उतनी ही भव्यता से मनाई जाती है.

भारत में तो जन्माष्टमी का अपना विशेष महत्व है, यहां प्रभु के बाल गोपाल चरित्र को बेहद प्रेम से सजाया संवारा जाता है और मुरली मनोहर के जन्मदिवस पर बड़े बड़े आयोजन भी किये जाते हैं. किन्तु उससे भी कहीं अधिक बढ़कर जन्माष्टमी हमें ज्ञान देती है. भारत के प्राचीनतम और पवित्र पौराणिक ग्रन्थ श्रीमद भगवद्गीता में स्वयं भगवान श्री कृष्ण ने कहा है कि,

जब जब समाज में बुराई का प्रभाव बढ़ेगा और धर्म की हानि होगी तो मैं इस दुनिया में अवतार लूंगा और बुराई का विनाश करने व अच्छाई का साथ देने के लिए अधर्मियों का अंत करूंगा.

यानि इस त्यौहार का प्रमुख महत्त्व नेक नियत को प्रोत्साहित करने और नकारात्मक मनोभावों को हतोत्साहित करने में निहित है. साथ ही यह पवित्र त्यौहार लोगों के बीच भाईचारे, परस्पर सौहार्द और एकत्व को बढ़ावा देता है, इसलिए सांस्कृतिक तौर पर इसका महत्त्व बहुत अधिक है. अत: आप सभी भी इस शुभ त्यौहार से निज ज्ञान अर्जित कर अपने चरित्र को कल्याणकारी बनाये.

इन्हीं शब्दों के साथ आप सभी को जन्माष्टमी की अनंत कोटि शुभकामनाएं. मेरे एवं समस्त समाजवादी परिवार की ओर से आप सभी देशवासियों को नंदलाला का जन्मदिवस बहुत बहुत मुबारक हो और आपके जीवन में खुशियों और उल्लास का संचार होता रहे.

आपका पार्षद

मोनू कनौजिया
क्षेत्र की आम समस्याएँ एवं सुझाव दर्ज़ करवाएं.

क्षेत्र की आम समस्याएँ एवं सुझाव दर्ज़ करवाएं.

नमस्कार, मैं मोनू कनौजिया आपके क्षेत्र का प्रतिनिधि बोल रहा हूँ. मैं क्षेत्र की आम समस्याओं के समाधान के लिए आपके साथ मिल कर कार्य करने को तत्पर हूँ, चाहे वो हो क्षेत्र में सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य, समानता, प्रशासन इत्यादि से जुड़े मुद्दे या कोई सुझाव जिसे आप साझा करना चाहें. आप मेरे जन सुनवाई पोर्टल पर जा कर ऑनलाइन भेज सकते हैं. अपनी समस्या या सुझाव दर्ज़ करने के लिए क्लिक करें - जन सुनवाई.

क्या यह आपके लिए प्रासंगिक है? मेसेज छोड़ें.